भगवानपुर। शुक्रवार को प्रखंड के भगवानपुर पंचायत भवन में मुखिया संघ के अध्यक्ष गब्बर मियां के नेतृत्व में विभिन्न पंचायतों के मुखिया की बैठक हुई।जिसमें कहा गया कि यदि इस माह के अंत तक डोंगल से भुगतान वाली समस्या का समाधान नहीं होता है तो मुखिया संघ धरने पर बैठकर आमरण अनशन करने पर बाध्य होगी।

पहड़ियां पंचायत के पूर्व मुखिया सह वर्तमान मुखिया प्रतिनिधि निर्मल सिंह यादव ने मीडिया को बताया कि इस कोविड-19 के दूसरे लहर से निपटने के लिए सरकार के आदेश के आलोक में मुखिया संघ के सदस्यों यानी कि सभी मुखियाओं द्वारा अपने-अपने पंचायतों के लोगों की सुरक्षा के दृष्टिकोण से मास्क वितरण किया गया, मगर सरकार का निर्देश है कि मुखिया लोगों का पेमेंट डोंगल के हीं माध्यम से किया जाएगा। जिससे स्थानीय प्रखंड क्षेत्र के सभी 9 पंचायतों के मुखियाओं को आर्थिक संकट के दौर से गुजरना पड़ रहा है।

मुखिया संघ के अध्यक्ष गब्बर मियां ने बताया कि आगामी 15 जून को सभी पंचायत के मुखिया लोगों का कार्यकाल समाप्त हो रहा है। ऐसी स्थिति में डोंगल वाली अड़चन उनके पंचायतों में स्विकृत किए गए योजनाओं को सफल बनाने में काफी बाधा पैदा कर रही है। डोंगल वाली उलझन से मास्क वितरण वाली राशि न निकलने के साथ-साथ अन्य कई योजनाएं बाधित हो रही हैं। वही इस समस्या के समाधान के बीडीओ को आवेदन भी दिया गया है।

इस संबंध में बीडीओ मयंक कुमार सिंह ने बताया कि डोंगल में तकनीकी कारणों से 1 प्रतिशत काम शेष बचा हुआ है। 99 प्रतिशत काम हो चुका है। यह समस्या प्रखंड स्तर पर नहीं बल्कि कैमूर जिले के विभिन्न प्रखंडों में है। डोंगल वाली टेक्निकल प्रॉब्लम से निपटने के लिए प्रखंड स्तर से लेकर जिला स्तर के अधिकारी पूरी तरह प्रयासरत हैं। जल्द ही इस समस्या का समाधान किया जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here