दुर्गावती (कैमूर)। प्रखंड क्षेत्र में ईद उल फितर का पर्व शुक्रवार को अकीदत वं एहतराम के साथ मनाया गया. कोरोनावायरस व लॉकडाउन के चलते घरों में ही रहकर ईद की नमाज की जगह लोगों ने नफिल नमाज अदा की. लोगों ने घरों में नमाज अदा कर दुआएं मांगी इतिहास में सायद दूसरी बार ऐसा देखने को मिला कि ईदगाह एवं मस्जिद में नमाज अदा न कर बल्कि घरों में नमाज अदा की गई.

नमाजियों ने इस जानलेवा कोरोनावायरस को खत्म करने की दुआ मांगी. नमाज को लेकर भले ही पाबंदिया लगाई गई थीं, लेकिन महामारी के इस निराशा भरे दौर में त्योहार की खुशी तनिक भी कम न थी लोगों ने घरों में ही चाश्त की नमाज अदा की और फोन कर दोस्तों-रिश्तेदारों को ईद की मुबारकबाद दी. वहीं ईदगाहों-मस्जिदों में इमाम सहित पांच नमाजियों ने ईद की नमाज अदा की.

इस दौरान कोरोना संक्रमण के खात्मे और अस्पतालों में भर्ती मरीजों की जल्द शिफा के लिए दुआएं की गईं खुशी मनाने के दरम्यान लोगों ने कोविड नियमों का भी ख्याल रखा एक-दूसरे को शारीरिक दूरी का ख्याल रखते हुए मुबारक पेश की गई.

संक्रमण से जंग के क्रम में अधिकतर लोगों ने एक-दूसरे के घर जाने से परहेज किया और फोन पर या इंटरनेट मीडिया के माध्यम से बधाई दी. ईदगाहों में ईद-उल-फित्र की नमाज अदा न कर पाने का मलाल हर किसी के दिल में रहा.बावजूद इसके लोगों ने निराशा के लंबे चले दौर पर विजय पाते हुए जमकर खुशियां मनाई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here