दुर्गावती (कैमूर)मुबारक अली। कैमूर जिले के दुर्गावती प्रखंड क्षेत्र के मछनहट्टा गांव निवासी बिहार विधान परिषद के पूर्व सभापति प्रोफेसर अरुण कुमार का बुधवार की देर रात पटना मे उनका निधन हो गया. वह पिछले कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे उनकी उम्र लगभग 90 वर्ष के थे. बिहार विधान परिषद के पूर्व सभापति का बुधवार की देर रात निधन हो गया इसकी जानकारी जैसे ही कैमूर जिले में लोगों को जानकारी हुई शोक की लहर दौड़ पड़ी।

लोगों ने उनके निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है. उनका पार्थिव शरीर पटना से गुरुवार को कैमूर उनके गांव मछनहट्टा पहुंचा.जहां दुर्गावती प्रखंड अंतर्गत मछनहट्टा गांव स्थित उनके पैतृक आवास पर क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों,सामाजिक कार्यकर्ताओं व लोगों का हुजूम अंतिम दर्शन के लिए उमड़ पड़ा.यहां उनके परिवार सहित अन्य लोगों ने श्रद्धांजलि दी.

बता दें कि बिहार विधान परिषद के पूर्व सभापति प्रोफेसर अरुण कुमार का लंबी बीमारी के कारण निधन हो गया वह 90 वर्ष के थे प्रो. अरुण कुमार मानव भारती प्रभृति साहित्यिक एवं सामाजिक संस्थाओं के संस्थापक अध्यक्ष और मंत्री रहे साथ ही विधान परिषद के सभापति के तौर पर 5 जुलाई, 1984 से 3 अक्तूबर, 1986 तक बखूबी निर्वहन किया वहीं नीतीश सरकार में भी उन्होंने 16 अप्रैल, 2006 से 4 अगस्त, 2009 तक बिहार विधान परिषद् के कार्यकारी सभापति की जिम्मेदारी निभायी.

प्रो अरुण कुमार कांग्रेस के बड़े नेताओं में गिने जाते थे.2 जनवरी, 1931 को कैमूर जिले के दुर्गावती प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत मछनहट्टा गांव में जन्मे प्रो अरुण कुमार की राजनीति और साहित्य में बराबर रुचि रही.प्रो अरुण कुमार ने निराला पुष्पहार तथा पत्र-पत्रिकाओं में अनेक रचनाओं का प्रकाशन किया.साथ ही वृन्दावन लाल वर्मा के उपन्यास पर शोध-कार्य किया. बुधवार की रात उनका पटना में निधन हो गया उनके निधन पर शोक जाहिर करते हुए लोगों ने कहा कि प्रोफेसर अरुण कुमार का निधन बिहार की राजनीति के लिए अपूरणीय क्षति है।

जिसे कभी भरा नहीं जा सकता है. पटना में निधन के बाद उनकी पार्थिव शरीर गुरुवार को कैमूर दुर्गावती प्रखंड अंतर्गत मछनहट्टा गांव स्थित उनके पैतृक आवास पर पहुंचा अंतिम दर्शन के लिए लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा लोगों ने दुख प्रकट करते हुए समाज के लिए अपूरणीय क्षति बताया. उनका पार्थिव शरीर जैसे ही उनके गांव पहुंचा लोगों की भीड़ उमड़ पड़ा लोगों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी शोक संवेदना व्यक्त की.

इस दौरान डीएम नवदीप शुक्ला,एएसपी अनंत कुमार राय,सीनियर डिप्टी कलेक्टर अमरेश कुमार अमर,एसडीएम अमृषा वैंस डीएसपी रघुनाथ सिंह तथा रामगढ़ विधायक सुधाकर सिंह पूर्व एमएलसी कृष्ण कुमार सिंह भाजपा नेता दारा सिंह,अंगद सिंह बब्बू सिंह,अशोक पांडे मुखाग्नि उनके पुत्र डॉ अशोक कुमार सिंह ने दिया अंतिम संस्कार वाराणसी स्थित राजकीय सम्मान के साथ मणिकर्णिका घाट पर किया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here