गांव में मचा कोहराम,परिजनों का रो रोकर बुरा हाल
भगवानपुर/कैमूर। शुक्रवार की दोपहर भगवानपुर
थाना क्षेत्र के टोड़ी गांव निवासी बचाऊ राम के 22 वर्षीय पुत्र विकास कुमार का वाराणसी स्थित ट्रामा सेंटर के आईसीयू में इलाज के दौरान मौत हो गई। मृतक विकास कुमार गांव में ही प्राइवेट ट्यूशन पढ़ाने वाले टीचर भी था। जानकारी के अनुसार, मामला विगत रविवार की रात का है। जब मृतक विकास अपने घर से खाना खाने के बाद गांव में ही ड्रामा के रिहर्सल को निकला था।

लेकिन इस बीच रात में ही अज्ञात अपराधियों ने विकास के सिर के पिछले हिस्से में यानी कि ब्रेन में चाकू या फिर किसी अन्य हथियार से जानलेवा हमला कर उसे मोहनपुर व टोड़ी गांव के बीच स्थित जल मीनार के पश्चिमी साइड वाले नदी के पास अधमरा अवस्था में फेंक कर फरार हो गए थे।जिसकी जानकारी सोमवार की अहले सुबह करीब साढ़े 4 बजे शौच के लिए नदी की ओर जा रहे लोगों द्वारा देखने के बाद पहचान कर परिजनों को सूचना दी गयी।

सूचना पर पहुँचे परिजनों ने घायल बेहोश अवस्था में प्राथमिक उपचार के लिए भभुआ सदर अस्पताल में ले जाया गया था। जहां प्राथमिक उपचार किये जाने के बाद डॉक्टरों ने बेहतर इलाज के लिए वाराणसी स्थित ट्रामा सेंटर में रेफर कर दिए जाने के बाद भर्ती कराया गया था। तब से वह कोमा में था और उसका इलाज आईसीयू में भर्ती कर न्यूरो विशेषज्ञों द्वारा किया जा रहा था।

मगर बेहतर इलाज होने के बावजूद ब्रेन की गंभीर चोट से कोमा में गए युवक मौत की हो गयी। मौत की खबर मिलते ही गांव में कोहराम मच गया। परिजनों का रो रोकर बुरा हाल हो गया। इलाज करा रहे परिजनों द्वारा वाराणसी में ही मृतक के शव का पोस्टमार्टम कराकर शव को गांव लायेंगे।

इस संबंध में भगवानपुर थानाध्यक्ष राकेश कुमार रौशन ने बताया कि मृतक के पिता परिजनों द्वारा अज्ञात के खिलाफ मारपीट करने का प्राथमिकी दर्ज कराया गया है। पुलिस आगे की कार्रवाई कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here