#सात दिवसीय फुटबॉल टूर्नामेंट के फाइनल मैच का उद्घाटन एमएलसी संतोष कुमार सिंह ने फीता काट कर किया 

रामपुर/कैमूर। मंगलवार को कैमूर जिले के रामपुर प्रखंड के सबार गांव के मां काली मंदिर के खेल मैदान पर चल रहे सात दिवसीय फुटबाल टूर्नामेंट का फाइनल आयोजन हुआ। इस टूर्नामेंट का आयोजन कैमूर फुटबॉल क्लब सबार द्वारा किया गया। फाइनल फुटबॉल मैच यूपी (चंदौली) बनाम बिहार(मुठानी) के बीच खेला गया। जिसमें मुठानी(बिहार) ने चंदौली (यूपी) को 3-2 गोल से हराकर के केएफसी फुटबॉल टूर्नामेंट के ट्रॉफी पर कब्जा जमा लिया। इस फाइनल टूर्नामेंट का उद्घाटन एमएलसी संतोष कुमार सिन्हा,भभुआ विधायक भरत द्वारा संयुक्त रूप से फीता काटकर किया। इसके बाद राष्ट्रगान जन गण मन अधिनायक जय हे…सभी लोगों द्वारा गाया गया।

फुटबॉल को किक मार कर मैच की शुरुआत की गई। मैच का शुरुआत होते हुए एक टीम दूसरे टीम पर गोल दागने के लिए हावी होने लगे। मैच शुरू होते हुए गोल करने के लिए 100 से 200 इनाम रखा जाना लगा। पूरा खेल मैदान फाइनल फुटबॉल मैच को देखने के लिए दर्शकों से भरा हुआ था। अंत तक फाइनल मैच काफी रोमांचक हुआ। प्रखंड क्षेत्र के दर्जनों गांव के लोग फुटबॉल मैच देखने के लिए जुटे हुए थे। खेल में मुठानी ने 3 गोल चंदौली के खिलाफ दागा तो चंदौली की टीम ने मुठानी पर 2 गोल ही कर पायी। जिसमें मुठानी 1 गोल से चंदौली को हरा कर ट्रॉफी पर कब्जा कर लिया।

मैच समाप्ति के पश्चात एमएलसी संतोष सिंह ने संबोधित करते हुए कहा कि मैं भी एक खिलाड़ी का रह चुका हूं। खेल में कभी खिलाड़ी की हार जीत नहीं होती है बल्कि खेल की हार जीत होती है। खेल को अनुशासन की भावना से खेलना चाहिए।किसी भी खेल में अभ्यास बहुत जरूरी होता है। किसी भी खेल खेलने से मानसिक एवं शारीरिक विकास होता है। सरकार द्वारा खेलो इंडिया अभियान चलाया जा रहा है। जिसके तहत जो खिलाड़ी खेल में अच्छा प्रदर्शन करेंगे उन्हें कई प्रकार के इस योजना अभियान के तहत खेल के माध्यम से लाभ मिल सकता है।

ऐसे खिलाड़ी को खेल में अच्छा प्रदर्शन करना होगा। जिला से लेकर राज्य स्तर व नेशनल स्तर तक जाना पड़ेगा। ग्रामीणों व कमिटी द्वारा एमएलसी से खेल मैदान की मिट्टी भराई करने की मांग की गई। जिस पर एमएलसी ने कहा कि अभी सरकारी फंड तो नहीं है। लेकिन मैं निजी फंड से खेल मैदान की मिट्टी भराई में जो भी खर्च आएगा उसे देने का आश्वासन दिया गया। 

विजेता टीम मुठानी को एमएलसी संतोष सिंह,धर्मेंद्र सिंह द्वारा संयुक्त रूप से ट्रॉफी के साथ ₹2500 देकर सम्मानित किया गया। वही उपविजेता चंदौली की टीम को ट्रॉफी के साथ दो हजार रुपये देकर सम्मानित किया गया। इस फाइनल मैच का मैन ऑफ द मैच साकिब चंदौली का रहा। मैन ऑफ द टूर्नामेंट मुठानी का धर्मेंद्र कुमार रहा। दोनों को ट्रॉफी देकर सम्मानित किया गया। वही मंच पर उपस्थित अतिथियों को समाजसेवी धर्मेंद्र सिंह द्वारा अंगवस्त्र देकर सम्मानित किया गया।रेफरी के रूप रौशन अली, लाइंसमैन की भूमिका लालबाबू पासवान, गामा राम ने निभाई। उद्घोषक की भूमिका शिक्षक अरविंद सिंह ने निभाई। 

आयोजक समिति द्वारा बताया जाता है कि यह टूर्नामेंट का दूसरा साल है। 2020 में 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के मौके पर ही केएफसी टूर्नामेंट का शुरुआत किया गया था। कैमूर फुटबॉल क्लब के अध्यक्ष मनोज पासवान ने बताया कि विगत 26 जनवरी को सासाराम व हाजीपुर के बीच के उद्घाटन मैच खेला गया था। यह सात दिवसीय फुटबॉल टूर्नामेंट हुआ। इस कैमूर फुटबॉल क्लब के उपाध्यक्ष जाहिद अली, सचिव मैनुद्दीन अंसारी, उपसचिव संतोष पासवान, टीम मैनेजर नेहाल अंसारी है। 

मौके पर बीजेपी जिलाध्यक्ष मनोज जायसवाल, पूर्व करमचट थानाध्यक्ष सच्चिदानंद मिश्रा, पूर्व मुखिया सबार सुरेंद्र मल्लाह, अक्षयवर सिंह, सरपंच प्रतिनिधि फकरुद्दीन अंसारी, बिरहा गायक रॉकेट नन्दलाल यादव सैकड़ों खेल प्रेमी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here