घटना की सूचना पर पहुँची अग्निशमन दल में आग पर नहीं कर पाया काबू

रामपुर/कैमूर। रामपुर प्रखंड के करमचट थाना के सबार गांव के मां काली मंदिर के खेल मैदान के बगल में रविवार को एक चेंबर पर के पास मवेशियों को चारा के  पुआल के ढेर में आग लग गया। जिसमें पुआल के साथ चेंबर की झोपड़ी भी जल कर राख हो गया। जिसमें हजारों रुपए की क्षति होना बताया जाता है। वही अगलगी की घटना के कारणों के बारे स्पष्ट रूप से पता नहीं चल पाया है। मिली जानकारी के मुताबिक, यह घटना सबार गढ़ गांव के अशोक सिंह के चेंबर पर हुई है।

अगलगी की घटना के बाद सैकड़ो की संख्या में लोगों की भीड़ जुट गयी। लोग आग को बुझाने का प्रयास करने लगे।वही घटना की सूचना पर करमचट थाने की पुलिस एवं अग्निशमन की गाड़ी पहुंची। अग्निशमन के कर्मी पुआल के ढेर में लगी आग को चेंबर को मकान को बचाने लगे।पानी की बौछार होने लगी। लेकिन फिर भी आग की लपटें बढ़ती ही जा रही थी। खबर लिखे जाने तक तीन घण्टे की कड़ी मशक्कत के बाद भी आग पर काबू नहीं पाया गया था।

पीड़ित अशोक सिंह ने बताया कि चेंबर के पास 15 बीघे का पुआल का ढ़ेर रखा गया। जो मवेशियों को चारा के लिए रखा गया था। वही चेंबर के आगे झोपड़ी भी था। जो चेंबर एक मजदूर का रखा गया था। उसका झोपड़ी में बिछावन, खेत के पटवन वाला पाइप, बर्तन व अन्य सामान जल कर राख हो गया। जिसमें 50 हजार रुपये से अधिक की क्षति हुई है। आग कैसे लगा है, यह पता नहीं चल पाया है।

वही सूचना पर पहुँचे समाजसेवी धर्मेंद्र सिंह ने बताया कि सबार गढ़ गांव के अशोक सिंह का अगलगी की घटना में पशुओं के चारा, झोपड़ी पशुशेड जल कर राख हो गया। संयोग अच्छा था कोई बड़ा हादसा नहीं हो पाया। वही इस अगलगी में लगभग 1 लाख रुपये की क्षति हुई है। मनरेगा विभाग से एक पशु शेड की मांग की जाती है और सीओ से आवेदन के माध्यम से उचित मुआवजा की मांग की जाती है।  

इस संबंध में पूछे जाने पर करमचट थानाध्यक्ष सच्चिदानंद मिश्रा ने बताया कि घटना की सूचना पर मैं व पुलिस के अलावा अग्निशमन गाड़ी को बुलाया गया। जिसके बाद आग पर काबू पाने की कोशिश की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here