भगवानपुर/कैमूर। मंगलवार को जिले सहित सभी प्रखंडो में धूमधाम व हर्षोल्लास के साथ 72 वां गणतंत्र दिवस का त्योहार मनाया गया। वही आन बान शान से तिरंगा झंडा को फहरा कर राष्ट्रगान के साथ सलामी दी गयी। झंडोत्तोलन के बाद भारत माता की जय, वंदे मातरम, महात्मा गांधी अमर रहे आदि की नारे लगाये गए।भगवानपुर प्रखंड के सभी सरकारी,गैर सरकारी कार्यालयों,संस्थानों पर झंडोत्तोलन किया गया। सुबह से ही देश भक्ति गाना बजने लगी।

भगवानपुर प्रखंड में झंडोत्तोलन कार्यक्रम की शुरुआत भगवानपुर मुंडेश्वरी गेट अंबेडकर चौक स्थित संविधान निर्माता डॉ भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा पर प्रशासनिक अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों व सामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा माल्यार्पण किया गया। माल्यार्पण करने वाले में भगवानपुर प्रखंड प्रमुख,उप प्रमुख, बीडीओ मयंक कुमार सिंह, सीओ विनोद कुमार सिंह, थानाध्यक्ष राकेश कुमार रौशन सहित कई जनप्रतिनिधियों व सामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा किया गया।

कहाँ किसने फहराया तिरंगा झंडा भगवानपुर प्रखंड मुख्यालय पर प्रखंड प्रमुख द्वारा झंडोत्तोलन कर सलामी दी गई। बाल विकास परियोजना कार्यालय पर सीडीपीओ अंजू कुमारी, बीआरसी कार्यालय पर बीईओ, भगवानपुर थाना में थानाध्यक्ष राकेश कुमार रौशन, सीएचसी पर प्रभारी डॉ तेगबहादुर सिंह, मुंडेश्वरी धाम के पर्यटन भवन में भगवानपुर बीडीओ मयंक कुमार सिंह, भगवानपुर पंचायत भवन पर मुखिया गब्बर मियां, भगवानपुर को ऑपरेटिव बैंक पर शाखा प्रबंधक मुरली मनोहर गुप्ता,

कसेर पंचायत मुख्यालय पर मुखिया प्रियंका देवी साथ ही प्रखंड के सभी 9 पंचायतों में मुखिया, सभी विद्यालयों में प्रधानाध्यापक, पार्टी दफ्तरों में अध्यक्ष द्वारा झंडा फहराया गया. प्रसाद के रूप में मिठाइयां बांटी गयी। वही तोड़ी महादलित टोला में राजाराम पासी व सरैयां में राम बच्चन राम द्वारा बीडीओ की मौजूदगी में झंडा फहराया गया।

देशभक्ति गीतों की रही धूम  मेरा रंग दे बसंती चोला…, ऐ मेरे वतन के लोगो… आदि देश भक्ति गीतों की धूम रही और क्षेत्र में गूंजता रहा। सभी की आँखे वीर शहीदों की बलिदान, वीरता की गाथाएं सुन कर भर आती हुई दिखायी दी। झंडोतोलन किया गया. इस अवसर पर सभी लोगो ने अपने अपने अंदाज में गणतंत्र दिवस की पावन अवसर पर बधाई दी गई। सोशल मीडिया से गणतंत्र दिवस की बधाइयां व शुभकामनाएं लोगों द्वारा दी गयी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here