भगवानपुर। प्रखंड मुख्यालय स्थित जैतपुर मोड़ के पास पेट्रोल पंप के सामने भगवानपुर-अधौरा पथ पर बीते बुधवार की दोपहर करीब 3 बजे एक अज्ञात स्कार्पियो चालक बगल के हीं महादलित बस्ती के एक 4 वर्षीय बच्चे को धक्का मार कर मौके से अपने वाहन सहित फरार हो गया था। जिसे भगवानपुर के ग्रामीणों द्वारा प्रखंड मुख्यालय स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाज कराने के बाद उसके बेहतर इलाज के लिए भभुआ के एक निजी अस्पताल में ले जाया गया था। जहां की इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

मृतक बालक की पहचान भगवानपुर गांव निवासी गरीबन मुसहर का इकलौते पुत्र उदई कुमार उर्फ उदय के रूप में की गई है। बताया जाता है, उक्त बालक खेलते खेलते बाजार की सड़क पार करने की कोशिश कर रहा था, इस बीच भगवानपुर बाजार की ओर से अधौरा की तरफ तीव्र गति से जा रही एक स्कॉर्पियो वाहन ने उस बच्चे को जोरदार टक्कर मारते हुई मोहनपुर-टोड़ी के रास्ते अधौरा की ओर निकल गई। इधर घटना के बाद घायल बच्चे को सरकारी अस्पताल में ले जाया गया, जहां चिकित्सक द्वारा उसका इलाज करने के बाद उसे बेहतर इलाज के लिए सदर अस्पताल भभुआ भेज दिया गया।

मगर जब वहां भी संतुष्टि नहीं मिली तो उसके परिजन घायल बच्चे को लेकर भभुआ के हीं किसी निजी अस्पताल में ले गए, जहां घायल बच्चे ने दम तोड़ दिया। सीएचसी की चिकित्सक गीता देवी ने बताया कि घायल बच्चे का प्राथमिक उपचार करने के दौरान उसे फर्श पर खड़ा करके भी देखा गया, ताकि यह पता लग सके कि उसके शरीर के किसी भाग के हड्डी में तो चोट नहीं है। डॉ गीता ने बताया कि उन्हें अभी भी विश्वास नहीं हो रहा है कि घायल बच्चे की मौत हो गई है।

संभवतः उसके शरीर के किसी अंदरूनी भाग में गंभीर चोटें पहुंची थीं, जिससे कि उसकी मौत हो गई। घायल बच्चे की मौत की खबर सुनने के बाद उसके परिजनों के घर थानाध्यक्ष राकेश कुमार रौशन के साथ-साथ गांव के कई अन्य समाजसेवी भी ढाढस बढ़ाने के लिए मौके पर पहुंचे। थानाध्यक्ष ने घटना की पूरी जानकारी मृतक के घरवालों से मालूम की। बताया जाता है कि मृत बालक गरीबन मुसहर का एकमात्र चिराग था, उसके अन्य कोई भी भाई बहन नहीं हैं।

ऐसे में परिजनों का रो रो कर बुरा हाल हो गया है। घटना के अगले दिन सुबह यानी कि गुरुवार को मृत बालक के शव को मिट्टी दे दी गई। लोगों का कहना है कि पुलिस द्वारा यदि हिंदुस्तान पेट्रोल पंप में लगाए गए सीसीटीवी कैमरे के फुटेज को खंगाला जाए, तो शायद बच्चे को धक्का मारने वाले वाहन का पता लग सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here