भभुआ कैमूर।कैमूर व रोहतास के बॉर्डर पर जंगल के हरइयांडीह गांव में चल रहे मिनी अवैध हथियार फैक्ट्री को गुप्त सूचना के आधार पर कैमूर पुलिस ने छापेमारी करते हुए पर्दाफाश किया है. साथ ही तीन आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता मिली है. जिनके पास से दो एक नाली बंदूक, दो अर्धनिर्मित लकड़ी का बट्टा, दो लोहे का छोटा भाती,आरी,रेती, सडसी, सुमा, लोहा का ट्रेगरगार्ड, छेनी, रुखान, इन्विटेप राइफल का सेलिंग फीता, पेचकस, पेंसिल, लोहे का क्लिप,बरनी, लोहे निहाई, लोहे का गुठा आदि कई हथियार बनाने वाला उपकरण भारी मात्रा में बरामद किया गया है. जिसकी जानकारी कैमूर एसपी दिलनवाज अहमद ने प्रेसवार्ता कर दी.

एसपी ने बताया कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी की अधौरा पहाड़ पर रोहतास व कैमूर के बॉर्डर पर जंगल में अवैध हथियार का निर्माण किया जा रहा है. इस सूचना पर एक पुलिस टीम बनाया गया. गठित पुलिस टीम व सशस्त्र बल द्वारा टोपाराडोही अधौरा ग्राम हरईयाडीह थाना नौहट्टा जिला रोहतास की सीमा के पास छापेमारी के दौरान एक नाली देसी बंदूक एवं हथियार बनाने वाले उपकरण के साथ दो व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया. जो रोहतास जिला के नौहट्टा थाना के हरईयाडीह गांव के कैलाश उरांव पिता स्वर्गीय दासा उरांव,व रामकेश्वर उरांव पिता स्वर्गीय बुधन उरांव बताये जाते हैं.

कैलाश उरांव के निशानदेही पर कैमूर जिले के अधौरा थाना के दुग्धा गांव के रूपा उरांव पिता स्वर्गीय रामधनी उराव के घर से एवं पास बसेड़ी से एक नाली देसी बंदूक एवं हथियार निर्माण करने वाले अन्य उपकरण के साथ गिरफ्तार किया गया. पूछताछ के क्रम में कैलाश उरांव एवं रामकेश्वर उरांव द्वारा बताया गया कि वे दोनों पूर्व में नौहट्टा थाना से उग्रवादी केस में जेल जा चुके हैं. उस घटना में आठ हथियार एवं 12 नक्सलियों को गिरफ्तार किया गया था. एसपी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों के बातों का सत्यापन नौहट्टा थाना से किया जा रहा है.अभियुक्तों के खिलाफ कांड दर्ज करते हुए जेल भेजा जा रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here