भगवानपुर/कैमूर। भगवानपुर थाना क्षेत्र के गोबरछ गांव के खलिहान में रखे गए धान के बोझा में सोमवार की रात अचानक आग लग गया। जिसमें दो किसानों का लगभग 1हजार धान की बोझा जलकर राख हो गया। घटना सोमवार की रात 10:30 बजे की बतायी जाती है। खलिहान में रखी गयी धान की बोझा किसान वीरेंद्र सिंह व कैलाश मिश्र की जली है। बताया जाता है कि जब किसान खाना खाकर अपने घर पर सोए थे। तभी गांव में अचानक शोर गुल हल्ला हुआ कि खलिहान में आग लगा हुआ है।

तब घर से किसान ने बाहर निकले और देखा खलिहान में धान की बोझा जल रहा है। इस अगलगी की घटना में किसान वीरेंद्र सिंह का 3 बीघा खेत के धान की बोझा तो कैलाश मिश्र के 8 बीघा खेत के धान की बोझा जल कर राख हो गया। इस अगलगी का कारण अभी पता नहीं चल पाया है। अगलगी के दौरान खलिहान के आसपास पानी नहीं होने के कारण ज्यादा जल गयी। घटना की सूचना पर भगवानपुर थाना से दमकल गाड़ी पहुँचा तब तक बहुत देर हो चुका था और आग से किसान की धान की बोझा को अपने कब्जे में ले चुका था।

जिसमें सब जलकर राख हो गया। लेकिन कड़ी मशक्कत के बाद आग पर पाया गया। किसानों द्वारा इस अगलगी में हुई क्षति के मुआवजा के लिए सीओ भगवानपुर के पास आवेदन देने की बात कही जा रही थी। इस अगलगी की घटना में किसानों के मेहनत पर पानी फिर गया। वही किसानों ने अपनी फसल को लेकर जो अपने सपने अरमान संजोए थे। वह सभी आग में जल कर खाक हो गया। क्योंकि किसानों को अपनी फसल की उपज से घर में शादी व्याह,रिश्तेदारी, बच्चों का पढ़ाई लिखाई, खेती गृहस्थी सब कुछ उसी पर होता है। लेकिन जब वही धान की फसल तैयार हो कर जो घर आना था।उसके पहले ही जल जाए तो सपने टूट कर बिखर ही गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here