भभुआ कैमूर। संपत्ति विवाद में हुई मारपीट में बेलांव थाना क्षेत्र के सोनरा गांव के घायल व्यक्ति की इलाज के दौरान मंगलवार की रात मौत हो गई। बेलांव पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम कराकर दाह संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिया। मृतक सोनरा गांव के गंगा राम बताया जाता है।मृतक के पुत्र राजवंश राम ने बताया कि उसके पिता बीते 16 अक्टूबर को अपनी सास समुंद्री कुंअर के श्राद्धकर्म में करमचट थाना के भीतरीबांध गए थे। जिनका कोई बेटा न होने की वजह से वह अपनी संपत्ति अपनी बेटियों को देना चाह रही थी। इस दौरान उन्होंने भीतरीबांध के उपेंद्र राम को गोद भी लिया था। इस बात से उनके पट्टीदार नाराज थे।

इसी बात को लेकर बीते 16 अक्टूबर को जब गंगा राम अपनी सास समुंद्री कुंअर के अंतिम क्रिया में शामिल होने भीतरी बांध गांव गए तो झाली गांव निवासी सरयू राम व बहादुर राम तथा भीतरीबांध गांव निवासी डोमाराम, राधेश्याम राम, रमेश राम, उमेश राम आदि ने मिलकर गंगाराम व उपेंद्र राम के साथ मारपीट कर दिया। इस घटना में उपेंद्र राम का जहां हाथ टूट गया। वहीं गंगा राम गंभीर रूप से घायल हो गए। इस मामले में घायल उपेंद्र राम ने झाली व भीतरीबांध निवासी उपरोक्त सहित कुल आठ लोगों के विरूद्ध करमचट थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी।

घायलों का इलाज रामपुर पीएचसी में कराया गया था। इसके बाद घायल गंगाराम का निजी डॉक्टर के घर पर इलाज कराया जा रहा था। 27 अक्टूबर की रात लगभग दस बजे अचानक घायल गंगाराम के सीने में दर्द शुरू हुआ।परिजनों द्वारा उन्हें इलाज के लिए ले जाने की तैयारी कर रहे थे। इसी बीच उनकी मौत हो गई। इसके बाद घटना की सूचना बेलांव थाना को दी गई।जिसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर भभुआ सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम कराया। गौरतलब है कि मृतक गंगा राम के तीन विवाहित पुत्रों में राजवंश राम, राजेश राम व दीपक राम शामिल है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here