#घटना भगवानपुर थाना क्षेत्र के जैतपुर नौगढ़ पथ में जोगिया बीर बाबा के पास की

 #पति व एक बेटी बाल बाल बचे, घटना की सूचना पर पहुँची पुलिस 

भभुआ/कैमूर(बंटी जायसवाल)। कैमूर से सड़क दुर्घटना की एक दर्दनाक ही मामला सामने आया है। जहां एक अनियंत्रित ट्रैक्टर से गिर कर चक्का के नीचे चपेट में आने से एक महिला की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं एक पुत्र व पुत्री गंभीर रूप से घायल हो गए। जिसे लोगो द्वारा भगवानपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र इलाज के लिए ले जाया गया। जहाँ  इलाज के दौरान बेटा की मौत हो गयी। बेटी की स्थिति गंभीर बतायी जा रही है। जिसे बेहतर इलाज के लिए भभुआ सदर अस्पताल भेज दिया गया। वही घटना की सूचना पर पहुँची पुलिस ने घटना की जानकारी लेते हुए मृतक महिला व उसके बेटे की शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भभुआ सदर अस्पताल भेज दिया गया।

भगवानपुर सीएचसी में घायल बच्ची की हुई इलाज

घटना भगवानपुर थाना क्षेत्र के जैतपुर कला से नौगढ़  जाने वाली पथ के जोगिया बीर बाबा के पास की है। घटना के बाद लोगों की घटनास्थल पर काफी भीड़ जुट गई। मिली जानकारी के मुताबिक मृतका धरचोली मीरगंज गांव के हरेंद्र काम की 35 वर्षीय पत्नी तेतर देवी व 3 वर्षीय पुत्र कृष्णा कुमार बताया जाता है। 1 वर्षीय रौशनी की गंभीर रूप से घायल की स्थिति गंभीर बतायी जाती है। जिसका इलाज भगवानपुर सीएचसी में कराया गया। 

भगवानपुर सीएचसी पर पहुचीं पुलिस, मृतका के पति से लेती जानकारी

मिली जानकारी के मुताबिक, मीरगंज गांव से पति हरेंद्र राम अपने पत्नी तेतर देवी, पुत्री ममता कुमारी,पुत्र कृष्णा कुमार, पुत्री रौशनी कुमारी को लेकर जैतपुर कलां गांव के बैंक में आधार कार्ड को जोड़ने व पैसे निकालने के लिए पैदल ही चले। बीच रास्ते में एक ट्रैक्टर मिल गया। जिस पर सभी चढ़ गए। ट्रैक्टर के इंजन पर बैठकर कर जैतपुर कलां गांव की ओर चले थे। मृतक महिला अपने साथ एक बेटा व एक बेटी को लेकर बैठी थी। वही उसका पति एक बेटी को लेकर बैठा था। इसी बीच जोगिया बीर बाबा के पास तेज रफ्तार ट्रैक्टर ब्रेकर पर अनियंत्रित हो कर उछल गया। महिला अपने दोनों बच्चों को लेकर आगे की ओर गिर गयी। 

ट्रैक्टर के चक्का के नीचे महिला के साथ दोनो बच्चें आ गए। इसमें महिला की मौके पर ही मौत हो गयी। जबकि एक बेटा व एक बेटी गंभीर रूप से घायल हो गए। वही पति व एक बेटी उसी ट्रैक्टर पर बैठे रह गए। अगर महिला ट्रैक्टर को पकड़ी रहती तो शायद यह घटना नहीं होता।मृतक महिला अपने बच्चों को ही पकड़े हुए थी। घटना की सूचना जैसे ही लोगों को मिली। लोगों की भीड़ जुट गई। इसकी सूचना लोगों ने भगवानपुर थाना पुलिस को दी। 

भगवानपुर सीएचसी में रोते बिलखते परिजन

वही घायल दोनो बच्चों को लेकर उसका पिता व लोगों द्वारा भगवानपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया। जहां इलाज के दौरान कृष्णा की मौत हो गयी। वही रौशनी की प्राथमिक उपचार डॉ योगेश तिवारी द्वारा किया गया। बच्ची की स्थिति नाजुक बतायी गयी। बेहतर इलाज के भभुआ सदर अस्पताल भेजा गया। वही पुलिस भी घटना की सूचना पर घटनास्थल पर जायजा व मृतक महिला की शव को लेकर भगवानपुर सीएचसी व बच्चे की शव को लेकर कागजी प्रक्रिया पूरी कर पोस्टमार्टम के लिए भभुआ सदर अस्पताल भेज दिया गया। 

घटना की सूचना पर मृतक महिला की मायके चैनपुर के हाटा से मां व अन्य लोग भगवानपुर सीएचसी पर पहुँच गए। जिसके बाद परिजनों का रो रोकर बुरा हाल हो गया। मृतका की मां छाती पीट पीट कर रोते हुए बेहोश हो जा रही थी। परिजनों के रोने से माहौल गमगीन हो गया। घटना के बाद कोहराम मच गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here