भभुआ/कैमूर। बारूदी सुरंगों से पुलिस की गाड़ी को उड़ाने वाला 19 सालो से फरार चल रहा कुख्यात नक्सली बीरबल कहार को गिरफ्तार करने में कैमूर पुलिस को आखिरकार सफलता मिल ही गयी है। 
गिरफ्तार नक्सली बीरबल कहार रोहतास जिले के चुटिया थाना के यदुनाथपुर गांव का रहने वाला है।
नक्सली बीरबल कहार को कैमूर पुलिस ने कांबिंग ऑपरेशन चलाकर रोहतास जिले के जंगल क्षेत्र से गिरफ्तार किया। इसमें एएसपी अभियान, सीआरपीएफ के जी-47 बटालियन और रोहतास की सी-47 बटालियन भी शामिल थी।

इसकी जानकारी कैमूर एसपी दिलनवाज अहमद ने प्रेसवार्ता कर दी। उन्होंने बताया कि वर्ष 2001में यानी19 साल पहले हवलदार एवं आरक्षी अधौरा पहाड़ी पर स्थित गड़के पुलिस पिकेट में गार्ड की बदली कराने जा रहे थे। तभी नक्सली बीरबल कहार ने पुलिस की गाड़ी को बारूदी सुरंग से उड़ा दिया था। 

इस हमले में दो आरक्षियों की मौत हो गई थी। एक हवलदार और आरक्षी घायल हो गए थे। नक्सलियों ने पुलिस की 303 राइफल, 4 बैनेट लूट कर फरार हो गए थे। इस हमला मामले में पुलिस ने अज्ञात उग्रवादी संगठन के विरुद्ध अधौरा थाना में 26 दिसंबर 2001 को कांड संख्या 25/1 दर्ज हुआ था। तभी से कुख्यात नक्सली बीरबल कहार की तलाश की जा रही थी।

कैमूर एसपी ने यह भी बताया कि विधानसभा चुनाव को देखते हुए पुलिस द्वारा लगातार फरार अभियुुक्तों और वारंटियों  के गिरफ्तारी के लिए अभियान चलाया  जा रहा है।नक्सली को एएसपी अभियान के नेतृत्व में कैमूर और रोहतास जिले के बीच स्थित कुडमुडा के जंगल से गिरफ्तार किया गया है। विधानसभा चुनाव को निष्पक्ष व शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराने के लिए अभियान चलाया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here