भभुआ/कैमूर। कैमूर जिले में लगातार कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ रही है। वही कोरोना से मौत आंकड़ा भी बढ़ रहा है। कोरोना अपना कहर बरपा रहा है। बढ़ते कोरोना के संक्रमण से बचाव को लेकर राज्य सरकार द्वारा 31 जुलाई तक लॉक डाउन लागू किया गया है। लेकिन इसके बावजूद भी कैमूर में कोरोना से बचाव के प्रति गंभीर नहीं दिख रहे है। बाजार में बिना मास्क व सोशल डिस्टेसिंग की धज्जियां उड़ाई जा रही है। ऐसे में कोरोना का संक्रमण नहीं बढ़ेगा तो क्या होगा।ताजा मामले के अनुसार, कैमूर में कोरोना से 9 वीं मौत का मामला सामने आया है। यह मौत मोहनियां थाना क्षेत्र में हुई है। मोहनियां में कोरोना से दूसरी मौत है। 

इसके पहले मोहनियां के निवासी भभुआ थाने में पदस्थापित दारोगा की कोरोना से मौत हो गयी है। वही दूसरी 55 वर्षीय महिला की मौत हुई है।स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक, बताया जाता है रविवार को 55 वर्षीय महिला अपना कोरोना जांच कराया। जिसका रिपोर्ट पॉजिटिव आया। पॉजिटिव महिला की तबियत खराब था। जिसके बाद उसे इलाज के लिए पटना एनएमसीएच के लिए एंबुलेंस से रेफर किया गया। लेकिन महिला की कुदरा में रास्ते में ही दम तोड़ दिया।वही रविवार को कैमूर में रैपिड एंटीजन किट व ट्रू नॉट मशीन से जांच में 16 कोरोना पॉजिटिव मरीज पाये गए।

जिसके बाद कैमूर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 434 तक पहुँच गया है। ट्रूनेट मशीन से 75 लोगों की कोरोना जांच में 3 संक्रमित तो  रैपिड एंटीजन कीट से 382 लोगों की जांच में 13 लोग कोरोना पॉजिटिव पाये गए।कैमूर में कोरोना अपना शिकार बनाना शुरू कर दिया जा रहा है। जिले में कोरोना से डाटा ऑपरेटर, दारोगा सहित 9 महिला व पुरूष मौत हो चुकी है।वही दारोगा की मौत के बाद भभुआ थाने को कंटेनमेंट ज़ोन बनाकर सील कर दिया गया है। आमलोगों के आने जाने पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया गया है। वही इसके पहले मोहनियां थाने को सील किया गया था। कोरोना से जागरूकता के लिए जिला प्रशासन प्रयासरत है। प्रचार प्रसार कराया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here