मोहनियां/कैमूर। कैमूर जिले सहित पूरे बिहार में लगातार कोरोना का संक्रमण बढ़ते जा रहा है। इस कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए ही 16 जुलाई से 31 जुलाई तक दोबारा लॉक डाउन लगाया है। इसके बावजूद भी कोरोना के मरीजो की संख्या व मौत के आंकड़े भी बढ़ रहे है। जो चिंता का विषय है। लेकिन भी फिर भी लोग कोरोना से बचाव के प्रति गंभीर नहीं दिख रहे है। कोरोना वायरस से आम आदमी तो खिलवाड़ कर ही रहे है। लेकिन अब चिकित्सकों का कोरोना से खिलवाड़ व लापरवाही कर रहे है। जिसका सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी वायरल हो रहा है। 

वायरल वीडियो के माध्यम से बताया जाता है कि जिले के एक बीजेपी के विधायक का कोरोना जांच के लिए सैंपल लिया जा रहा है। लेकिन सैंपल लेने वाले चिकित्सक या कर्मी अपने चेहरे को मास्क, फेस शिल्ड व हाथों में गलब्स पहने हुए हैं। जबकि स्वास्थ्य विभाग के नियमानुसार किसी भी व्यक्ति का कोरोना जांच के लिए सैंपल पीपीई कीट पहनकर ही लेना है।लेकिन का विधायक या अन्य लोगों का कोरोना जांच के लिए सैंपल लेना कर्मी पीपीई किट नहीं पहने हुए दिखाई दे रहा हैं।

जब कि वायरल वीडियो में उनका सहयोगी पीपीई किट पहनकर बगल में उनके सैंपल को ले रहा है।लेकिन स्वाब सैंपल लेने वाला कर्मी बिना पीपीई कीट के नजर आ रहा है। जो साफ तौर पर स्वास्थ्य विभाग की गाइडलाइंस को ताक पर रख कर लापरवाही की जा रही है। अपने तो अपने,अन्य लोगों व परिवार व अस्पताल के लोगों के लिए भी जान जोखिम में डाल सकता है।

यह वायरल वीडियो मोहनियां अनुमंडलीय अस्पताल का बताया जाता है। हालांकि इस मामले में कोई भी अस्पताल के डॉक्टर या कर्मी कुछ भी कैमरे के सामने बोलने से बच रहे है। अब देखना यह होगा कि इस मामले में अस्पताल प्रशासन क्या करता है। क्या इस लापरवाही के मामले में कोई कार्रवाई करता है या फिर ऐसे ही मामला को शांत हो जायेगा। हालांकि इसे अस्पताल के लोगो द्वारा गलत बताया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here